मनोरंजन

Unique Railway Station: एक साथ 2 राज्यों में खड़ी होती है यह ट्रेन, चाय पिने के लिए दुसरे राज्य जाना जरूरी 

Khabar Fatafat Digital Desk: भारत का एकमात्र ऐसा रेलवे स्टेशन जो एक साथ 2 राज्यों में उसकी सीमा हैं. कहा जाए तो रेलवे स्टेशन पर चाय पीनी हो तो एक राज्य से दुसरे में जाना जरूरी है इस तरह का भारत में रेलवे स्टेशन कहा है पूरी जानकारी इसी खबर में दी गई है. 

भारतीय रेलवे को देश की धड़कन कहा जाए तो अतिश्योक्ति नहीं. देश के लोग लंबी दूरी पर बसे एक शहर से दूसरे शहर का सफर, धार्मिक स्थलों की यात्रा के लिए रेलवे का सहारा लेते हैं. हर रेलवे स्टेशन में कम से दो प्लेटफॉर्म जरूर देखने को मिलते हैं. 

प्लेटफॉर्म से ही लोग ट्रेन पकड़कर अपने गंतव्य के निकल पड़ते हैं. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि देश में एक अनोखा स्टेशन ऐसा भी है जहां ट्रेन का इंजन एक राज्य में तो ट्रेन के गार्ड का डिब्बा दूसरे राज्य में खड़ा होता है. जिसका प्लेटफॉर्म दो अलग-अलग राज्यों में है.

यह अनोखा रेलवे स्टेशन राजस्थान और मध्य प्रदेश दोनों ही राज्यों के अंतर्गत आता है. जी हां, बात हो रही भवानी मंडी स्‍टेशन की जो अपनी तरह का एक अनोखा रेलवे स्टेशन है. यह रेलवे स्टेशन दो राज्यों में बंटा हुआ है. 

इतना ही नहीं इस रेलवे स्टेशन के एक छोर पर राजस्थान का बोर्ड लगा है और तो दूसरी ओर मध्य प्रदेश का साइन बोर्ड दूर से ही अपनी ओर ध्यान खींचता है.

भवानी मंडी रेलवे स्‍टेशन की कुछ और खासियतें भी हैं जो इसे अनोखा बनाती हैं. यहां एक टिकट काउंटर एमपी के मंदसौर जिले में है तो दूसरा राजस्थान के झालावाड़ा जिले में स्थित है. स्टेशन में एंट्री और वेटिंग रूम राजस्थान के झालावाड़ ज‍िले की सीमा में आता है. 

सबसे मजेदार बात यह है कि यहां पर ट‍िकट की लाइन मध्‍य प्रदेश में शुरू होती है और लाइन लंबी होने पर लोग राजस्‍थान की सीमा तक टिकट के लिए खड़े हो जाते हैं.

भवानी मंडी रेलवे स्टेशन का हो रहा रीडेवलपमेंट
अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत कोटा मंडल के भवानी मंडी रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास होना है. यह स्टेशन अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा. 24 करोड़ की लागत से रीडेवलपमेंट किया जाएगा. स्टेशन का सौंदर्यीकरण, सर्कुलेटिंग एरिया का विकास, स्टेशन प्रवेश द्वार का विकास, हाई लेवल प्लेटफॉर्म का प्रावधान किया जाएगा. 

स्थानीय कला और संस्कृति के तत्वों के साथ स्टेशन का आंतरिक सौंदर्यीकरण किया जाएगा. बैठने की उन्नत व्यवस्था, वेटिंग रूम का विकास, स्टेशन भवन के फसाड का सौंदर्यीकरण, 12 मीटर चौड़े फुट ओवर ब्रिज का प्रावधान, स्टैंडर्ड संकेतकों का प्रावधान, उन्नत फर्नीचर, उन्नत शौचालय बनाए जाएंगे.

 स्टेशन के नवीनीकरण से स्थानीय पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और इस क्षेत्र का आर्थिक-सामाजिक विकास होगा. 

Alpesh Bishnoi

अल्पेश पिछले लम्बे समय से डिजिटल खबरी दुनिया से जुड़े हुए है. हालांकि अल्पेश को Finance बीट में काम करने का अत्यधिक अनुभव है लेकिन वो हर क्षेत्र में अपना हुनर इस वेबसाईट पर दिखा रहे है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button