बिजनेस

Rajasthan Railways: राजस्थान के इस जिले से चलने वाली ये सुपरफास्ट ट्रेन होगी बंद, हजारों यात्रियों पर पडेगा इसका असर

Khabar Fatafat Desk, New Delhi: रेलवे की तरफ से प्रयागराज से बीकानेर के बीच ट्रेन के ट्रैक में बदलाव की प्रक्रिया की जा रही है. इसके लिए प्रस्ताव लिया जा चुका है. अगर इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल जाती है तो झुंझुनू के लोगों को प्रयागराज से बीकानेर के बीच चलने वाली रेल सुविधा से वंचित होना पड सकता है.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सप्ताह में 3 दिन सीकर से लोहारु के बीच चलने वाली प्रयागराज बीकानेर ट्रेन का संचालन सातों दिन फतेहपुर से शुरू के बीच चलाने पर विचार किया जा रहा है. बतौर इसके भी उच्च स्तर पर इसका प्रस्ताव बनाया गया है.

प्रस्ताव की मंजूरी के बाद सीकर-झुंझुनूं-लोहारू रूट पर प्रयागराज-बीकानेर ट्रेन का संचालन बंद हो जाता है तो सैकड़ों यात्रियों को परेशानी होगी।’

धार्मिक स्थल गोवर्धन, मथुरा, प्रागराज, कानपुर, आगरा समेत अन्य जगहों पर पहुंचने के लिए झुंझुनूं से सीधी ट्रेन मिलनी मुश्किल हो जाएगी। जानकारी के अनुसार प्रयागराज-बीकानेर ट्रेन का सप्ताह में सोमवार, गुरुवार और शनिवार को सीकर-झुंझुनूं-लोहारू रूट पर संचालन किया जाता है। ट्रेन तय वार को चिड़ावा रेलवे स्टेशन पर सुबह 11 बजे पहुंचती है। वहीं इसी दिन शाम को चार बजे चिड़ावा स्टेशन पर वापस आती है।

वर्तमान में गाड़ी नंबर 12403/ 12404, 20403/ 20404 प्रयागराज-बीकानेर-प्रयागराज सुपर फास्ट (Bikaner-Prayagraj Superfast Train) के रूप में चार दिन वाया चूरू, फतेहपुर और तीन दिन लोहारू होकर संचालित हो रही है। जिसके टर्मिनेटिंग व ऑरिजनेटिंग गत 28 अप्रेल से बीकानेर के स्थान पर लालगढ़ 30 जून तक किया गया है। 

पूर्व में यह गाड़ी जयपुर तक इलेक्ट्रिक इंजन और उससे आगे बीकानेर तक डीजल इंजन से संचालित होती थी, जो अब बीकानेर तक इलेक्ट्रिक इंजन से संचालित हो रही है। प्रस्ताव दिया गया है कि गाड़ी के जयपुर में इंजन बदलाव के समय को बचाकर उसके समय में आंशिक परिवर्तन कर एक मार्ग एक नंबर करते हुए जैसलमेर तक विस्तार किया जा सकता है।

प्रयागराज ट्रेन (Prayagraj Train) बंद होने से झुंझुनूं जिला धार्मिक स्थल मथुरा, आगरा, कानपुर, प्रयागराज से वंचित हो जाएगा। प्रयागराज ट्रेन का संचालन इसी रूट पर यथावत रखने की जरूरत है। अगर ट्रेन के रूट में बदलाव किया जाता है तो ज्ञापन देकर विरोध जताया जाएगा। -देवेंद्र वर्मा, अध्यक्ष, दैनिक रेल यात्री संघ, चिड़ावा

Alpesh Bishnoi

अल्पेश पिछले लम्बे समय से डिजिटल खबरी दुनिया से जुड़े हुए है. हालांकि अल्पेश को Finance बीट में काम करने का अत्यधिक अनुभव है लेकिन वो हर क्षेत्र में अपना हुनर इस वेबसाईट पर दिखा रहे है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button