ब्रेकिंग न्यूज़

Indian Railway: भारतीय रेलवे ने महिलाओं को दी ट्रेन में आधुनिक सुविधा, यात्रा करने से पहले जानना जरुरी 

Khabar Fatafat Digital Desk: महिलाओ के लिए भारतीय रेलवे ने आधुनिक सुविधा उपल्बंध करवाई है जिसमें यदि महिला यात्रा करने वक्त ट्रेन से पूछे रह जाए या फिर महिला की सुरक्षा की बात आदि विषय पर महिलाओ को रेलवे कर्मचारियों द्वारा सुविधा उपलबंध करवाई जाएंगी.  

ऐसे में भारतीय रेलवे भी महिलाओं को कई फायदे देता है. वर्तमान में महिलाएं कहीं भी अकेले आराम और सुरक्षित तरीके से यात्रा कर सकती हैं। भारतीय रेलवे द्वारा महिलाओं को दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में बहुत से लोगों को जानकारी नहीं है।

रात के समय टीटी किसी महिला को ट्रेन से नहीं उतार सकता
अगर किसी कारण से कोई महिला बिना टिकट के ट्रेन में सफर कर रही है तो आपको बता दें कि रात के समय टीटी महिला को ट्रेन से नहीं उतार सकता। अगर कोई टीटी ऐसा करता है तो महिला इसकी शिकायत रेलवे अथॉरिटी से कर सकती है।

कृपया ध्यान दें कि बिना टिकट ट्रेन से यात्रा करना गैरकानूनी है। यदि किसी कारणवश कोई महिला रात में छूट जाती है तो उसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी आरपीएफ या जीआरपी की होती है।

उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि जहां उन्होंने महिला को छोड़ा है, वहां वह पूरी तरह सुरक्षित है या नहीं।

भारतीय रेलवे ने हर ट्रेन में महिलाओं को कोटा दिया है. प्रत्येक स्लीपर कोच में 7 निचली बर्थ महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। वहीं, 3 टियर एसी में 4 से 5 सीटें, 2 एसी में 3 से 4 निचली बर्थ महिलाओं के लिए आरक्षित हैं।

अगर गर्भवती महिलाएं, वरिष्ठ नागरिक, 45 साल से अधिक उम्र की महिलाएं ट्रेन से यात्रा करती हैं तो उन्हें इस कोटा के तहत सीटें दी जाती हैं।

भारतीय रेलवे में 45 साल से अधिक उम्र की महिला यात्रियों को निचली बर्थ वाली सीटें मिलती हैं। भारतीय रेलवे में यह प्रणाली स्वचालित है। यदि किसी महिला ने टिकट बुक करते समय सीट चयन में निचली बर्थ का चयन नहीं किया है और उसकी उम्र 45 वर्ष से अधिक है, तो भी उसे निचली सीट मिलेगी।

महिलाओं को आवास मिलेगा
भारतीय रेलवे के मुताबिक, महिलाओं को मेल या एक्सप्रेस ट्रेनों में भी अनारक्षित श्रेणी में जगह मिलेगी। इसके अलावा उपनगरीय ट्रेनों या लोकल ट्रेनों में महिलाओं के लिए एक अलग कोच भी होगा।

महिलाओं के लिए विशेष ट्रेन
भारतीय रेलवे महिलाओं के लिए कई विशेष ट्रेनें भी चलाता है। इन ट्रेनों की जानकारी रेलवे कार्यालय में जाकर प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा कई स्टेशनों पर महिलाओं के लिए अलग से हॉल या वेटिंग रूम भी बनाए गए हैं.

Alpesh Bishnoi

अल्पेश पिछले लम्बे समय से डिजिटल खबरी दुनिया से जुड़े हुए है. हालांकि अल्पेश को Finance बीट में काम करने का अत्यधिक अनुभव है लेकिन वो हर क्षेत्र में अपना हुनर इस वेबसाईट पर दिखा रहे है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button